कमलनाथ ने कहा- जो युवाओं को नौकरी देगा, उसे निवेश में मिलेगी प्राथमिकता

भोपाल. प्रदेश में निवेश को बढ़ावा देने के लिए मुख्यमंत्री कमलनाथ ने मंगलवार को उद्योगपतियों के साथ राउंड टेबल मीट रखी। मिंटो हॉल में आयोजित इंडस्ट्री लीडर्स राउंड टेबल मीटिंग के बाद मीडिया से चर्चा में मुख्यमंत्री कमलनाथ ने कहा कि प्रदेश में ऐसे निवेश को प्रोत्साहन दिया जाएगा जिससे रोजगार के अधिक से अधिक अवसर मुहैया हों।

उन्होंने मीडिया से चर्चा के दौरान स्पष्ट किया कि निवेशकों के साथ उनकी बातचीत कोई इंवेस्टर मीट नहीं, बल्कि उनकी समस्याएं जानने और सुझाव प्राप्त करने के लिए किया गया, विमर्श था। उन्होंने कहा कि लगभग सभी निवेशकों ने सिंगल विंडो सिस्टम से काम नहीं हो पाने जैसी समस्याएं उन्हें बताईं।

प्रदेश में रोजगार के अधिकाधिक अवसर खोलने के विषय में उदाहरण देते हुए उन्होंने कहा कि अगर 500 करोड़ रुपए के किसी निवेश से प्रदेश में मात्र 150 लोगों को रोजगार मिल रहा है और 100 करोड़ रुपए
का कोई अन्य निवेश प्रदेश के एक हजार लोगों को रोजगार दे रहा है तो सरकार 100 करोड़ रुपए वाले निवेश को प्राथमिकता देगी। मुख्यमंत्री कमलनाथ ने कहा कि सरकार अभी सभी पक्षों को सुन रही है और ‘प्रैक्टिकल अप्रोच’ से काम करेगी।

उन्होंने कहा कि उद्योग से जुड़े अलग-अलग सेक्टर के लोगों को बुलाकर उनसे चर्चा की जाएगी। ऐसे ‘हैंड-होल्डिंग’ अधिकारियों की नियुक्ति की जाएगी, जो उद्योगपतियों की हर समस्याओं का समाधान करने के लिए समर्पित रहेंगे। ऐसे 10 से 12 अधिकारियों की नियुक्ति होगी और उनके माध्यम से निवेश का माहौल बनवाया जाएगा।

कमलनाथ ने कहा कि उद्योग नीति के साथ पर्यटन, सूचना प्रौद्योगिकी जैसे अन्य सभी सेक्टरों की भी अलग-अलग नीति बनाई जाएगी। प्रदेश में पूर्ववर्ती सरकार में निवेश केे दावों पर उन्होंने कहा कि वे पुरानी बातें पर नहीं जाएंगे और पुरानी चीजों को बेहतर करना उनकी प्राथमिकता रहेगी। उन्होंने कहा कि वे विश्वास का वातावरण बनाने की दिशा में काम कर रहे हैं।

ये प्रमुख समूह लेंगे हिस्सा 

नेट लिंक सॉफ्टवेयर, एचईजी, ट्राइडेंट लिमिटेड, सूर्या रोशनी लि., प्रॉक्टर एंड गैंबल, भारत-ओमान रिफायनरी, वेलस्पन, आईटीसी, सिंबायोसिस ग्रुप, क्रॉम्पटन ग्रीव्ज, कोकाकोला, वर्धमान ग्रुप, लुपिन, सन फार्मास्युटिकल्स आदि।