विद्यार्थियों को औद्योगिक प्रतिष्ठानों का भ्रमण कराएं : राज्यपाल

Spread the love

भोपाल। राज्यपाल श्रीमती आनंदीबेन पटेल ने कहा है कि नेतृत्व विकास शिविर के दौरान छात्र-छात्राओं को औद्योगिक प्रतिष्ठानों का भ्रमण भी कराया जाये। शिविर में सांस्कृतिक और व्यक्तित्व विकास की गतिविधियाँ शामिल की जायें। राजभवन में कार्यक्रमों का संचालन प्रतिभागी बच्चों से ही करवाया जाये। श्रीमती पटेल आज यहाँ नेतृत्व विकास शिविर को संबोधित कर रही थीं।

राज्यपाल श्रीमती पटेल ने शिविर में प्रतिभागी बच्चों से कहा कि यात्रा के दौरान प्राप्त अनुभवों को परिवारजनों, मित्रों और विद्यालय में साझा करें। उन्होंने कहा कि बचपन में कई बार गलतियाँ होती हैं किन्तु जानकारी मिलने पर गलती दोबारा नहीं होना चाहिए। इसके लिए नियमित रूप से डायरी लिखना चाहिए। इससे लेखन क्षमता में सुधार होता है। चीजों के गहन निरीक्षण और विवेचना की क्षमता का विकास होता है। डायरी में दर्शनीय स्थलों के विषय में जानकारी के साथ ही देश में हो रहे बदलाव और विकास के संबंध में अपने विचार भी लिखें। यात्रा का रूट मैप बनाएं। इससे यात्रा में मिलने वाले स्थलों आदि की तथ्यात्मक जानकारियाँ प्राप्त होंगी।

राज्यपाल ने शिविर की सराहना करते हुए कहा कि शिविर में शामिल बच्चों के लिए संबंधित विद्यालय में कार्यक्रम आयोजित करवायें, जिसमें ये बच्चे अन्य छात्र-छात्राओं से अपने अनुभव साझा कर सकें। यात्रा के फोटो भी स्कूल में प्रदर्शित किये जायें। इससे अन्य बच्चों को प्रोत्साहन मिलेगा। उन्होंने कहा कि बच्चों को जिम्मेदारीपूर्ण उत्तरदायित्व भी सौंपे जायें। इससे उन्हें भविष्य की जिम्मेदारियों का बेहतर ढंग से निवर्हन करने का अनुभव मिलेगा।

राज्यपाल श्रीमती पटेल ने तीन-तीन छात्र-छात्राओं को टेबलेट प्रदान किए। बच्चों की डायरी का अवलोकन कर उनका उत्साहवर्धन किया। विदिशा की छात्रा मिथलेश परिहार और इंदौर के छात्र विनोद चलथिया ने इस मौके पर यात्रा के अनुभव साझा किये।

इस अवसर पर प्रमुख सचिव अनुसूचित जनजाति श्रीमती दीपाली रस्तोगी, आयुक्त अनुसूचित जाति श्री आनंद शर्मा उपस्थित थे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *