US: कैपिटल बिल्डिंग में हिंसक झड़प में दिखा भारत का झंडा, वरुण गांधी ने उठाए सवाल

Spread the love

नई दिल्ली। अमेरिका में राष्ट्रपति चुनाव के बाद से जारी गतिरोध अब अपने चरम पर जा पहुंचा है। यहां डोनाल्ड ट्रंप के हजारों समर्थकों ने वाशिंगटन कैपिटल हिल में घुसकर जबरदस्त हंगामा किया। ट्रंप समर्थकों ने कैपिटल हिल में तोड़फोड़ की और सीनेटरों को बाहर कर पूरी बिल्डिंग पर कब्जा कर लिया है। इस पूरे प्रदर्शन में भारत के लिए चौंका देने वाला मामला तब सामने आया जब बीजेपी सांसद वरुण गांधी ने एक वीडियो पोस्ट ट्वीट करते हुए प्रदर्शनकारियों के बीच भारत का झंडा देखे जाने पर सवाल खड़े किए। 

हंगामे की दुनिया भर के नेताओं ने की निंदा
अमेरिका में कैपिटल परिसर में बुधवार को राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप के समर्थकों के हंगामे की दुनिया भर के नेताओं ने निंदा की है और हंगामे की वजह से देश में उपजे हालात पर क्षोभ जताया है। भारत के प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने अमेरिका के निवर्तमान राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप के समर्थकों और पुलिस के बीच बुधवार को हुई हिंसक झड़प पर चिंता व्यक्त की और कहा कि लोकतांत्रिक प्रक्रिया को गैरकानूनी प्रदर्शनों से बदलने की अनुमति नहीं दी जा सकती।

प्रदर्शनकारियों के बीच भारत का झंडा पर वरुण ने उठाए सवाल
बीजेपी सांसद वरुण गांधी ने प्रदर्शनकारियों के बीच भारत का झंडा देखे जाने पर ट्वीट कर कह,वहां भारतीय झंडा क्यों है? उन्होंने कहा, ‘यह एक ऐसी लड़ाई है जिसमें हमें निश्चित रूप से भाग लेने की आवश्यकता नहीं है। बता दें कि अमेरिका के निवर्तमान राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप के हजारों समर्थक अमेरिकी कैपिटल में घुस गए और पुलिस के साथ उनकी झड़प हुई। इस घटना में चार लोगों की मौत हुई और कई लोग गंभीर रूप घायल भी हुए। साथ ही नए राष्ट्रपति के रूप में जो बाइडन के नाम पर मोहर लगाने की संवैधानिक प्रक्रिया बाधित हुई।

प्रधानमंत्री मोदी ने ट्वीट कर कही ये बात
प्रधानमंत्री मोदी ने ट्वीट कर अमेरिका में सत्ता के सुव्यवस्थित और शांतिपूर्ण हस्तांतरण की प्रक्रिया को जारी रखने का आह्वान भी किया। मोदी का यह बयान ट्रंप के हजारों समर्थकों के कैपिटल परिसर में घुसने और पुलिस के साथ उनकी हिंसक झड़प के बाद आया।

नवनिर्वाचित राष्ट्रपति की चुनावी जीत की होनी थी पुष्टि
बता दें कि अमेरिका के वाशिंगटन डीसी स्थित कैपिटल में आज नवनिर्वाचित राष्ट्रपति की चुनावी जीत की पुष्टि की जानी थी। ट्रंप के समर्थक कैपिटल में चल रही बहस के बीच में सीनेट चेंबर तक पहुंच गए थे। पुलिस को इन प्रदर्शनकारियों को काबू करने में काफी मशक्कत करनी पड़ी। इन हालात में प्रतिनिधि सभा और सीनेट तथा पूरे कैपिटल को बंद कर दिया गया। उपराष्ट्रपति माइक पेंस और सांसदों को सुरक्षित स्थानों पर पहुंचाया गया। पुलिस और प्रदर्शनकारियों के बीच हुई इस झड़प में चार लोगों की मौत हो गई।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *