प्रदेश अपहरण उद्योग बनने की कगार पर : शिवराज सिंह

भोपाल। मध्य प्रदेश की बिगड़ती कानून व्यवस्था पर पूर्व मुख्यमंत्री शिवराज सिंह ने कहा है कि प्रदेश जिस तरह के हालात निर्मित हो रहे हैं उसे देख लगता है कि प्रदेश में जल्द ही अपहरण उद्योग बनने की कगार पर है। डाकुओं का दौर प्रदेश में फिर लौट रहा है।

उल्लेखनीय है कि इंदौर के बाद चित्रकूट में दो भाईयों के अपहरण की घटना के बाद प्रदेश कानून व्यवस्था पर सवाल खड़े हो रहे हैं। पूर्व मुख्यमंत्री शिवराज सिंह ने कहा कि ये सब बड़े पैमाने पर पुलिस अधिकारियों के किए गए तबादलों का नतीजा है। तबादला सिर्फ इसलिए किए गए कि वो अधिकारी पिछली सरकार द्वारा तैनात किए गए थे। इसी का नतीजा है कि प्रदेश में पिछले दो महीने में अपराध चरम पर पहुंच गए हैं। इंदौर और चित्रकूट में हुई घटनाएं इसी का नतीजा हैं। अपराधी बैखोफ हो गए हैं।

शासन अपना काम कर रहा हैं: इधर प्रदेश के गृहमंत्री बाला बच्चन का कहना है कि शासन अपना काम बेहतर तरीके से कर रहा है। जल्द ही चित्रकूट से अपह्त किए गए बच्चों को सकुशल बरामद कर लिया जाएगा। पुलिस अपनी तरफ से हर संभव प्रयास कर रही है।