शिवराज सिंह चौहान का राहुल गांधी पर आरोप, बोले- किसान आत्महत्या करने को मजबूर, ऋणमाफी का दावा झूठ

नई दिल्ली: वरिष्ठ भाजपा नेता शिवराज चौहान ने कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी के इस दावे को शुक्रवार को झूठा करार दिया कि मध्य प्रदेश में उनकी पार्टी के सत्ता में आने के कुछ ही दिनों के अंदर कृषि ऋण माफ कर दिया गया. चौहान ने आरोप लगाया कि कमलनाथ सरकार के शासन में किसान आत्महत्या करने के लिए मजबूर हो रहे हैं. मध्यप्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री चौहान ने कहा कि गांधी ने हाल ही में दावा किया था कि पार्टी के सत्ता में आने के दस दिन के अंदर ही चुनावी वादे के मुताबिक ऋण माफ कर दिए गए.

उन्होंने कहा, ‘‘इस झूठ की बेशर्मी इस बात से स्पष्ट है कि उनकी पार्टी के सत्ता में 100 दिन से अधिक हो जाने के बावजूद ऋणमाफी के लिए आवेदन कर रहे किसानों से कहा जा रहा है कि अनुरोध पर गौर नहीं किया जा सकता क्योंकि आदर्श आचार संहिता लागू है.” उन्होंने कहा, ‘‘कांग्रेस आंखों में धूल झोंकने के लिए आदर्श आचार संहिता का इस्तेमाल कर रही है. चुनाव कानून स्पष्ट कहता है कि लोगों को चल रही योजना के लाभ पहुंचाने पर कोई रोक नहीं है.”

जब चौहान से पूछा गया कि क्या पार्टी वरिष्ठ कांग्रेस नेता दिग्विजय सिंह के खिलाफ भोपाल में लालकृष्ण आडवाणी की बेटी को चुनाव मैदान में उतारेगी तब उन्होंने कहा, ‘‘हम सही समय पर उम्मीदवार तय करेंगे लेकिन मैं शर्त लगाता हूं कि कोई साधारण भाजपा कार्यकर्ता भी उन्हें हरा सकता है.” चौहान ने इस सवाल को टाल दिया कि वरिष्ठ भाजपा नेता आडवाणी पार्टी के लिए प्रचार करेंगे या नहीं.