Sri Lanka Bomb Blast: श्रीलंका में सिलसिलेवार बम धमाकों में 3 भारतीय सहित 207 लोगों की मौत, 400 से अधिक घायल

नई दिल्ली: Sri Lanka Blast: श्रीलंका में हुए सिलसिलेवार बम धमाकों (Sri Lanka Bomb Blast) में 3 भारतीय नागरिकों की भी मौत हुई है. विदेश मंत्री सुषमा स्वराज ने ट्वीट कर इसकी जानकारी दी. बता दें कि श्रीलंका (Sri Lanka) में तीन गिरजाघरों और तीन होटलों में सहित 8 जगहों पर एक के बाद एक हुए विस्फोटों में (Sri Lanka Blasts) में मरने वालों की संख्या बढ़कर 207 हो गई है और 400 से अधिक लोग घायल हैं. दरअसल यह धमाका उस समय हुआ, जब ईस्टर की प्रार्थना के लिए लोग चर्च में एकत्रित हुए थे. चर्च के बाहर भीड़ थी. धमाके में कई विदेशी नागरिकों के मारे जाने की भी खबर है. सुषमा स्वराज ने ट्वीट किया, ‘भारतीय उच्चायोग ने कोलंबो में बताया कि नेशनल हॉस्पिटल ने उन्हें तीन भारतीय नागरिकों की मौत की सूचना दी है. उनके नाम लक्ष्मी, नारायण चंद्रशेखर और रमेश हैं. हम आगे के विवरणों के बारे में पता लगा रहे हैं.’

भारतीय नागरिकों के लिए हेल्पलाइन नंबर जारी
श्रीलंका में भारतीय दूतावास ने भारतीय नागरिकों के लिए हेल्पलाइन नंबर भी जारी किए हैं. भारतीय दूतावास की ओर से ट्वीट किया गया है, जिसमें लिखा है ‘कोलंबो और बट्टीकालोआ में धमाके की खबरे हैं. हम स्थिति पर नजर रखे हुए हैं. मदद या किसी जानकरी के लिए भारतीय नागरिक इन नंबरों पर संपर्क कर सकते हैं: +94777903082 +94112422788 +94112422789. श्रीलंका के नंबरों के अलावा इन भारतीय नंबरों पर भी संपर्क कर सकते हैं: +94777902082 +94772234176 .

पीएम मोदी ने की निंदा
प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने श्रीलंका में रविवार को हुए सिलसिलेवार धमाकों की निंदा करते हुए कहा कि क्षेत्र में बर्बरता के लिए कोई स्थान नहीं है. पीएम मोदी ने कहा कि भारत इस द्वीप राष्ट्र की जनता के साथ है. प्रधानमंत्री ने ट्वीट किया,‘श्रीलंका में हुए भयावह विस्फोटों की निंदा करता हूं. हमारे क्षेत्र में इस प्रकार की बर्बरता के लिए कोई स्थान नहीं है.’ उन्होंने कहा कि भारत एकजुटता से श्रीलंका के लोगों के साथ है. पीएम मोदी ने कहा मारे गए लोगों के परिजन के प्रति हमारी संवेदनाएं हैं तथा घायलों के लिए हमारी प्रार्थनाएं हैं.

पहले ही मिली थी चेतावनी
बता दें कि विस्फोटों से 10 दिन पहले देश के पुलिस प्रमुख ने चेतावनी जारी कर कहा था कि आत्मघाती हमलावर ‘अहम गिरजाघरों’ को निशाना बना सकते हैं. पुलिस प्रमुख पी. जयसुंदरा ने 11 अप्रैल को एक गुप्तचर चेतावनी शीर्ष अधिकारियों को भेजी थी. इस अलर्ट में कहा गया था कि एक विदेशी खुफिया एजेंसी ने जानकारी दी है कि एनटीजे (नेशनल तोहिद जमात) अहम गिरजाघरों और कोलंबो में भारतीय उच्चायोग पर फिदायीन हमले की योजना बना रहा है. एनटीजे श्रीलंका (Sri Lanka) का कट्टरपंथी मुस्लिम संगठन है. पिछले साल बुद्ध प्रतिमाओं को नुकसान पहुंचाने में इस संगठन का नाम सामने आया था.