बिहार में NDA की सीटों का फार्मूला तय, रामविलास पासवान की दोनों मांगें पूरी

Spread the love

ब्यूरो रिपोर्ट समाचार भारती-

लोकसभा चुनाव की सीटों को लेकर नेशनल डेमोक्रेटिक एलायंस (NDA) में चल रही खींचतान के बीच सूत्रों के मुताबिक गठबंधन ने सीट शेयरिंग फार्मूला तैयार कर लिया है. जानकारी के मुताबिक बीजेपी और जेडीयू 17-17 सीटों पर व लोक जनशक्ति पार्टी (लोजपा) 6 सीटों पर चुनावी मैदान में उतरेगी. इसके अलावा सूत्रों ने बताया कि बीजेपी रामविलास पासवान को असम से अपने कोटे से राज्यसभा सीट देगी. इसी के साथ यह उम्मीद जताई जा रही है कि बिहार में लोकसभा चुनाव के लिए एनडीएम में सीट बंटवारे को लेकर उठा विवाद अब थम जाएगा.

ऐसे तय हुआ सीटों का फार्मूला!

बता दें कि बिहार में एनडीए की सीट शेयरिंग को लेकर रामविलास पासवान और उनके बेटे चिराग पासवान लगातार भाजपा के वरिष्ठ नेताओं के संपर्क में थे. गुरुवार को भाजपा अध्यक्ष अमित शाह से लोजपा के दोनों नेताओं ने मुलाकात की. इसके बाद शुक्रवार को अरुण जेटली ने मुलाकात कर सीटों को लेकर अपनी आकांक्षाओं से अवगत कराया था. इसके बाद नीतीश कुमार शुक्रवार को दिल्ली पहुंचे. माना जा रहा है कि भाजपा नेतृत्व ने सभी से बातकर सीट शेयरिंग फार्मूले पर मुहर लगाई.

राष्ट्रीय लोक समता पार्टी (रालोसपा) के राजग छोड़ देने के बाद लोक जनशक्ति पार्टी (लोजपा) की नाराजगी को लेकर उन्हें मनाने का दौर चल रहा था. इस बीच, बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार दिल्ली पहुंचे. नीतीश के दिल्ली दौरे को लेकर जद (यू) के वरिष्ठ नेता के सी त्यागी ने शुक्रवार को कहा था कि मुख्यमंत्री नीतीश कुमार एक वैवाहिक कार्यक्रम में शमिल होने दिल्ली आ रहे हैं. मुख्यमंत्री का यह कार्यक्रम बहुत पहले से तय था. हालांकि, ऐसा माना जा रहा था कि वो यहां अमित शाह से मुलाकात कर सीट बंटवारे के विवाद पर विराम लगाएंगे.

‘एनडीए का हिस्सा बनी रहेगी लोजपा’

2019 लोकसभा चुनाव के लिए सीट बंटवारे के मुद्दे पर केंद्रीय मंत्री अरुण जेटली ने शुक्रवार को लोक जनशक्ति पार्टी (लोजपा) के अध्यक्ष रामविलास पासवान और उनके बेटे चिराग पासवान से मुलाकात की. जेटली से मुलाकात के बाद, लोजपा संसदीय बोर्ड के अध्यक्ष चिराग पासवान ने उम्मीद जताई थी कि वार्ता सही दिशा में आगे बढ़ेगी. बैठक में भाग लेने वाले चिराग के चाचा रामचंद्र पासवान ने कहा कि लोजपा राष्ट्रीय जनतांत्रिक गठबंधन का हिस्सा बनी रहेगी.

लोजपा की उम्मीद हुई पूरी

भाजपा और जद-यू ने पहले ही घोषणा कर दी थी कि दोनों पार्टी 2019 लोकसभा चुनाव में बराबर की सीटों पर चुनाव लड़ेंगी. वहीं, लोजपा के सूत्रों ने कहा था कि पार्टी बिहार में 6 लोकसभा सीटों पर लड़ना चाहती है और राज्यसभा की एक सीट की मांग कर रही है. ऐसे में एनडीए के सीट शेयरिंग फार्मूले के बाद तीनों पार्टियों को अपने मन मुताबिक सीटें मिल गई हैं और उम्मीद है कि विवाद को विराम लग जाएगा.

बता दें कि बीते लोकसभा चुनाव में भाजपा ने बिहार में 30 सीटों पर चुनाव लड़ा था और 22 पर जीत हासिल की थी, वहीं लोजपा ने 6 सीटों और राष्ट्रीय लोक समता पार्टी (रालोसपा) ने तीन सीटों पर कब्जा जमाया था. रालोसपा अब राजद-कांग्रेस महागठबंधन का हिस्सा है. 2014 में जनता दल-युनाइटेड (जद-यू) ने अकेले चुनाव लड़ा था और केवल 2 सीट पर ही जीत हासिल की थी.

सीट बंटवारे को लेकर रामविलास, चिराग से मिले शाह

बता दें कि भाजपा नेता व बिहार में पार्टी मामलों के प्रभारी भूपेंद्र यादव गुरुवार को पहले चिराग पासवान और रामविलास पासवान से मुलाकात की थी. इसके बाद लोजपा के नेताओं ने गुरुवार को भाजपा अध्यक्ष अमित शाह से मुलाकात की और सीट बंटवारे में वार्ता को लेकर हो रही देरी पर अपनी चिंताओं से अवगत कराया था.

मुलाकात करीब डेढ़ घंटे तक चली. चिराग पासवान ने कहा था कि भाजपा को अपने सहयोगियों की बात सुनकर सीटों की साझेदारी की व्यवस्था करनी चाहिए ताकि ज्यादा विलंब न हो और उससे नुकसान उठाना पड़े.

सीट बंटवारे को लेकर भाजपा पर दबाव बना रही थी लोजपा

यह मुलाकात ऐसे समय में हुई जब भाजपा की अगुवाई वाले राष्ट्रीय जनतांत्रिक गठबंधन (राजग) के पूर्व घटक राष्ट्रीय लोक समता पार्टी (रालोसपा) ने गुरुवार को औचारिक तौर पर कांग्रेस की अगुवाई में संयुक्त प्रगतिशील गठबंधन (संप्रग) में शामिल हो चुकी है. इसके बाद लोक जनशक्ति पार्टी (लोजपा) ने भी सीट बंटवारे को लेकर भाजपा पर दबाव बनाना शुरू कर दिया. लोजपा संसदीय बोर्ड के नेता और जमुई के सांसद चिराग पासवान के एक ट्वीट के बाद राष्ट्रीय जनता दल (राजद) जहां लोजपा के राजग छोड़ने की भविष्यवाणी करती रही. वहीं, भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) बचाव में उतर आई.

चिराग ने ट्वीट कर बढ़ाई थी भाजपा की मुसीबत

बिहार के जमुई से सांसद चिराग पासवान ने मंगलवार रात ट्वीट कर राजग को नाजुक दौर से गुजरने की बात स्वीकार करते हुए लिखा था, “तेलुगू देशम पार्टी (तेदेपा) व राष्ट्रीय लोक समता पार्टी (रालोसपा) के राजग गठबंधन से अलग जाने के बाद यह नाजुक मोड़ से गुजर रहा है. ऐसे समय में भाजपा गठबंधन में फिलहाल बचे हुए साथियों की चिंताओं को समय रहते सम्मानपूर्वक तरीके से दूर करे.”

चिराग पासवान ने लोकसभा चुनाव को लेकर सीट बंटवारे पर अपनी चिंता जाहिर करते हुए एक अन्य ट्वीट में लिखा, “गठबंधन की सीटों को लेकर कई बार भाजपा नेताओं से मुलाकात हुई लेकिन अभी तक कुछ ठोस बात आगे नहीं बढ़ पाई है. इस विषय पर समय रहते बात नहीं बनी तो इससे नुकसान भी हो सकता है.” इस ट्वीट के बाद राजद की बांछें खिल गई हैं तथा बिहार में बयानबाजी का दौर भी प्रारंभ हो गया.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *