मध्य प्रदेश : सरकार की निगरानी में 10 करोड़ के हीरों की होगी नीलामी, आप भी खरीद सकते हैं जानिये कैसे?

Spread the love

भोपाल। पैसों की कमी से जुझ रही मध्य प्रदेश की सरकार ने अब खजाना भरने के हीरों की नीलामी का मार्ग चुना है। इसके तहत अब खजाना भरने के लिए पन्ना हीरा खदानों से निकले अपने 2500 कैरेट के अलग-अलग हीरों की नीलामी करने की तैयारी है।

वहीं पूर्व मेंं भी पन्ना की हीरा वर्कशॉप में रखे इन हीरों की दो बार प्रदर्शनी लगाई जा चुकी है। हीरे की चाहत के चलते यहां इस बार काफी तादाद में लोगों के आने की आशा है। वहीं इसके बाद जल्द ही बंदर खदान की नीलामी होने को लेकर भी कई बातें सामने आ रही हैं।

बताया जाता है कि नीलामी के इन हीरों को परखने के लिए अभी तक देश के कुछ प्रमुख समूहों के साथ ही करीब दो सैंकड़ा से ज्यादा हीरा व्यापारी पहुंच चुके हैं। ये समूह अडानी ग्रुप, बिड़ला का एस्सेल, वेदांता और रूंगटा डायमंड्स बताए जाते हैं।

वहीं इससे पहले हीरों की नगरी पन्ना भी इस साल हीरा खरीदने का अवसर दे चुकी है। इसमें 29.46 कैरेट और 18.13 कैरेट सहित कई बड़े हीरों सहित कुल 239.44 कैरेट के 187 हीरों को नीलामी के लिए रखा गया था।

आप भी नीलामी में खरीद सकते हैं हीरा
खनिज विभाग अब हीरों को नीलाम करने के लिए खुली बोली लगवाएगा। पन्ना में उथली हीरा खदानों से मिलने वाले इन हीरों की नीलामी में कोई भी व्यक्ति हिस्सा ले सकता है। जरूरी नहीं कि वह कारोबारी ही हो तभी नीलामी में शामिल हों।

हीरा कार्यालय के अनुसार आप भी 5 हजार रुपए की निर्धारित राशि जमा कर नीलामी में हिस्सा ले सकते हैं। यह राशि बाद में हीरा नहीं खरीदने की स्थिति में वापस भी मिल जाती है। जबकि हीरा खरीदने पर इसे हीरे की कुल कीमत में जोड़ लिया जाता है।

वहीं खनिज विभाग से आ रही सूचना के अनुसार 2500 कैरेट हीरों की नीलामी के लिए प्रक्रिया चल रही है। इसमें कुछ बड़े समूह उत्सुक है,जिनमें अडानी ग्रुप, बिड़ला का एस्सेल, वेदांता और रूंगटा डायमंड्स का नाम आ रहा है, बताया जाता है कि हीरों की नीलामी से राजस्व बढ़ेगा।

खनिज विभाग अब हीरों को नीलाम करने के लिए खुली बोली लगवाएगा। ऐसा अनुमान है कि इन हीरों की नीलामी पर 10 करोड़ से ज्यादा का राजस्व मिलेगा।

पन्ना और छतरपुर की खदानों से पिछले वर्षों में 183 हीरे निकले हैं। ये हीरे जिला प्रशासन पन्ना के अधीन हीरा वर्कशॉप में रखे हुए है। बकस्वाहा की सबसे प्रमुख बंदर हीरा खान से रियो टिंटो ने कई हीरे निकाले थे। यह हीरे वर्कशॉप में जमा कराए गए है।

खनिज विभाग और जिला प्रशासन हीरों की नीलामी की तैयारी कर चुका है। इसके लिए 6 महीने में दो बार हीरों की प्रदर्शनी लगाई जा चुकी है। पिछले माह की प्रदर्शनी में देश के चार बड़े समूहों के प्रतिनिधियों ने अपनी उपस्थिति दर्ज कराई थी।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *