छत्तीसगढ़ : पूर्व मुख्यमंत्री अजीत जोगी की तबियत बिगड़ी, गुरुग्राम के मेदांता अस्पताल में भर्ती

Spread the love

रायपुर। छत्तीसगढ़ (Chhattisgarh) के पूर्व मुख्यमंत्री (Former Chief Minister) अजीत जोगी (Ajit Jogi) की तबियत अचानक बिगड़ गई है. जेसीसी के प्रमुख अजीत जोगी के इलाज के लिए हरियाणा के गुरुग्राम (Gurugram) स्थित मेदांता अस्पताल (Medanta Hospital) में भर्ती कराया गया है. जानकारी के मुताबिक, 73 साल के अजीत जोगी को सांस लेने में तकलीफ हो रही थी. इसके बाद उन्हें तत्काल अस्पताल ले जाया गया.बता दें कि अजीत जोगी पिछले कुछ दिन से दिल्ली (Delhi) प्रवास पर हैं. गुरुवार रात अचानक उनकी तबियत खराब हो गई. जोगी यहां छत्तीसगढ़ भवन में रुके हुए थे. फिलहाल उनका इलाज किया जा रहा है.

बताते हैं कि, पिछले कुछ दिनों से अजीत जोगी रूटीन मेडिकल चेकअप के लिए दिल्ली में ही थे. गुरुवार आधी रात उन्होने सांस लेने में तकलीफ होने की शिकायत की. फिर उन्हे गुरुग्राम के मेदांता अस्पताल में भर्ती कराया गया है. उनकी पत्नी रेणु जोगी (Renu Jogi) भी उनके साथ ही हैं.

अजीत जोगी पर एक और मामला दर्ज

मिली जानकारी के मुताबिक, पूर्व मुख्यमंत्री अजीत जाेगी के खिलाफ गौरेला थाने में एक केस दर्ज किया गया है. फर्जी जाति प्रमाण पत्र बनवाने को लेकर शिकायत हुई है. मरवाही विधानसभा की पूर्व विधायक प्रत्याशी और जिला पंचायत सदस्य समीरा पैकरा पुलिस को ये आवेदन दिया है. कहा जा रहा है कि समीरा पैकरा ने तत्कालीन तहसीलदार के उस शपथ पत्र के आधार पर केस दर्ज कराया है, जिसमें उन्होंने दावा किया है कि जोगी का प्रमाण-पत्र उन्होंने कभी जारी नहीं किया. दर्ज एफआईआर में कहा गया है कि अजीत जोगी ने गलत तरीके से राजनीतिक लाभ लेने खुद को अनुसूचित जन जाति का बताकर फर्जी जाति प्रमाण पत्र पेंड्रारोड से बनवाया था. बता दें कि, पिछले महीने राज्य सरकार द्वारा गठित हाईपावर कमेटी ने उन्हे आदिवासी मानने से साफ इंकार कर दिया था.

बेटे अमित जोगी भी हैं जेल में 

जनता कांग्रेस के प्रदेश अध्यक्ष अमित जोगी (Amit Jogi) को पुलिस ने बिलासपुर (Bilaspur) के सरकारी निवास मरवाही सदन से गिरफ्तार किया था. फिर व्यवहार न्यायालय (पेंड्रा रोड) ने अमित जोगी की जमानत अर्जी खारिज की दी थी. निचली अदालत द्वारा याचिका खारिज होने के बाद उन्‍होंने एडीजे कोर्ट में अपील की थी. जहां निचली अदालत ने भी उनकी जमानत अर्जी खारिज कर दी थी. अमित जोगी पर चुनाव के दौरान अपनी नागरिकता (Citizenship) को लेकर गलत जानकारी देने का आरोप लगा है. फिलहाल अमित जोगी 14 दिनों की रिमांद पर गोरखपुर जेल (Gorakhpur Jail) में हैं.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *