मिशन चंद्रयान-2: MP के इस छोटे से शहर की मेघा ने वो कर दिखाया, जिसकी कल्पना भी नहीं थी

Spread the love

भोपाल/कटनी। अंतरिक्ष में भारत की इस ऊंची उड़ान, मिशन चंद्रयान-2 में मध्य प्रदेश के एक छोटे से शहर कैमोर की बेटी मेघा भट्ट भी अपना महत्वपूर्ण योगदान निभा रही हैं. मेघा, चंद्रयान-2 से मिलने वाले डाटा का एनालिसिस करेंगी.

चंद्रयान-2 की सफलता से मध्य प्रदेश की सीमेंट नगरी कैमोर के लोग भी खुश हैं. देश की उपलब्धि पर तो इन्हें गर्व है ही, उतना ही गर्व इन्हें अपनी बेटी मेघा भट्ट पर भी है, जो चंद्रयान-2 में डाटा एनलिस्ट हैं. खुशी इसलिए क्योंकि मेघा कैमोर में ही पढ़ी-लिखी हैं.

उनके पिता यू एन भट्ट एसीसी कैमोर के इंजीनियरिंग इंस्टीट्यूट के डीजल सेक्शन में इंस्ट्रक्टर थे. यही वजह है कि मेघा ने अपनी हायर सैकेंड्री तक की शिक्षा यहीं पूरी की. उसके बाद वो उच्च अध्ययन के लिए जबलपुर चली गयीं.

मेघा का परिवार
पिता यूएन भट्ट एसीसी कैमोर के इंजीनियरिंग इंस्टीट्यूट के डीजल सेक्शन में इंस्ट्रक्टर थे. रिटायरमेंट के बाद वो गुजरात में सैटल हो गए. मेघा की एक बहन पूर्वी इंदौर में आई स्पेशलिस्ट हैं और भाई तरंग भट्ट गुजरात में है.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *