मध्यप्रदेश : समाज में व्याप्त तनाव से मुक्त होने के लिए महात्मा गांधी के विचारों को अपनाना जरूरी – कमलनाथ

Spread the love

भोपाल। मुख्यमंत्री कमलनाथ ने आज गांधी जयंती पर कहा कि देश दुनिया और समाज में व्याप्त तनाव से मुक्त होने के लिए राष्ट्रपिता महात्मा गांधी के विचारों को अपनाना एवं उनके दिखाए गए मार्ग पर चलना जरूरी है।

मुख्यमंत्री आज महात्मा गांधी की 150वीं जयंती वर्ष पर मध्यप्रदेश कांग्रेस कमेटी द्वारा आयोजित पदयात्रा में शामिल हुए। उन्होंने स्थानीय रोशनपुरा चौराहे से मिंटो हाल स्थित महात्मा गांधी प्रतिमा तक पदयात्रा की। उन्होंने महात्मा गांधी की प्रतिमा पर माल्यार्पण कर उन्हें श्रद्धांजलि दी। इसके बाद वे पुरानी विधानसभा चौराहे पर स्थापित पूर्व प्रधानमंत्री स्वर्गीय लालबहादुर शास्त्री की प्रतिमा स्थल पर पहुंचे और उनकी प्रतिमा पर माला पहनाकर श्रद्धा-सुमन अर्पित किए।

मुख्यमंत्री ने कहा कि महात्मा गांधी सिर्फ भारत ही नहीं विश्व के नेता थे। उन्होंने अपने व्यक्तित्व और कृतित्व से पूरी दुनिया में अपनी पहचान बनाई थी। उन्होंने अमेरिका के राष्ट्रपति का जिक्र करते हुए कहा कि उनके कार्य स्थल पर भी महात्मा गांधी का चित्र लगा हुआ था।

मुख्यमंत्री ने कहा कि इतिहास में एक समय ऐसा आता है जब सही राह की आवश्यकता होती है। आज हमारे देश, समाज और पूरी दुनिया में जो हालात हैं उसका निदान महात्मा गांधी के बताए मार्ग पर चलकर ही होगा। उन्होंने कहा कि अपने साधारण से व्यक्तित्व से उन्होंने अंग्रेजों का मुकाबला कर उनसे भारत को मुक्ति दिलाकर असाधारण और अभूतपूर्व काम किया। उन्होंने कहा कि देश अगर महात्मा गांधी के रास्ते पर नहीं चला तो हमारी संस्कृति नष्ट हो जाएगी।

मुख्यमंत्री ने कहा कि कांग्रेस को गर्व है कि उसका नेतृत्व महात्मा गांधी जैसे महानतम व्यक्ति ने किया है। आज कांग्रेस पार्टी समाज को देश को जोड़ने की अगर बात करती है तो यह देन महात्मा गांधी की है। उन्होंने कहा कि बापू के प्रति हमारी निष्ठा और सम्मान है तो यह हमारे देश और समाज के लिए भी है।

कांग्रेस नेताओं ने किया महात्मा गांधी का स्मरण :कांग्रेस के वरिष्ठ नेताओं ने आज महात्मा गांधी की जयंती पर उन्हें स्मरण किया है। वरिष्ठ नेता और मध्यप्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री दिग्विजय सिंह ने ट्वीट करते हुए कहा कि सत्य अहिंसा प्रेम और सद्भाव के पुजारी को सादर नमन। गांधी एक विचारधारा है जो कभी नहीं मर सकती। गांधी आज भी प्रासंगिक हैं।

पूर्व केंद्रीय मंत्री ज्योतिरादित्य सिंधिया ने भी अपने ट्वीट में महात्मा गांधी को नमन किया है। उन्होंने कहा कि दूसरों की पीड़ा को अपनी समझने वाले राष्ट्रपिता महात्मा गांधी के अहिंसा, सामाजिक समरसता और आपसी सद्भाव के सिद्धांत आज के दौर में और प्रासंगिक हो गए हैं। भारत देश की उन्नति गांधी जी के इन सिद्धांतों पर चलकर ही की जा सकती है। 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *