मोदी सरकार ने बीमा एजेंटों की रोजीरोटी संकट में डाल दी : दिग्विजय

Spread the love

भोपाल:  मध्य प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री और भोपाल संसदीय क्षेत्र से कांग्रेस उम्मीदवार दिग्विजय सिंह ने सोमवार को केंद्र सरकार पर जीवन बीमा निगम (एलआईसी) के एजेंटों के सामने रोजीरोटी का संकट खड़ा करने का आरोप लगाया और वादा किया कि केंद्र में कांग्रेस की सरकार बनने पर वेतनमान पुनर्निर्धारण (वेज रिवीजन) की प्रक्रिया शुरू की जाएगी. प्रदेश कांग्रेस कार्यालय में बीमा एजेंटों का सम्मेलन बुलाया गया. दिग्विजय सिंह ने बीमा एजेंटों को संबोधित करते हुए कहा, ‘मोदी सरकार ने एलआईसी एजेंटों के सामने रोजीरोटी का संकट पैदा कर दिया है. आपको विश्वास दिलाता हूं कि कांग्रेस सरकार बनने पर मुझसे जो भी बनेगा, वह करूंगा. एलआईसी एजेंटों का जो वेज रिवीजन अटका पड़ा है, उस पर भी चर्चा की जाएगी.’

सिंह ने एलआईसी सहित सभी पब्लिक सेक्टर अंडरटेकिंग (पीएसयू) का पक्षधर होने की बात कही और अपनी मंशा जाहिर करते हुए कहा कि वे चाहते हैं कि सभी पीएसयू अच्छे ढंग से चलें और जनता की सेवा करें. उन्होंने एजेंटों से आग्रह किया कि वे एलआईसी के भोपाल डिवीजन में जहां-जहां रहते हैं, वहां-वहां के पोलिंग बूथ पर जाकर जनता को सच्चाई बताएं और कांग्रेस को जिताएं.

इस मौके पर एलआईसी एजेंट संघ के राष्ट्रीय अध्यक्ष देवीशंकर शुक्ला ने कहा कि भोपाल संभाग में एलआईसी के साढ़े चार हजार बीमा एजेंट हैं और 10 लाख पॉलिसीधारक हैं. पिछले लंबे समय से एलआईसी की हालत केंद्र सरकार ने दयनीय कर दी है. देश में 28 करोड़ बीमाधारकों के हित के सवाल पीछे छूटते जा रहे हैं. सभी कर्मचारियों की ग्रेच्युटी सीमा 20 लाख रुपये है, लेकिन एजेंटों की ग्रेच्युटी सीमा तीन लाख रुपये पर अटकी हुई है.

उन्होंने कहा, “पीएफ हमारे कमीशन से काटा जा सकता है. हम लोग तोप जरूर नहीं चलाते हैं, लेकिन तोप खरीदने के लिए एलआईसी ने ही पैसा दिया है.”

भोपाल संभाग के अध्यक्ष गंगा सागर यादव ने कहा कि दिग्विजय सिंह ने एलआईसी को बचाने के लिए पूरी कोशिश करने का भरोसा दिलाया है. लिहाजा, एलआईसी एजेंट कांग्रेस को जिताने के लिए काम करेंगे. सम्मेलन में ऊर्जा मंत्री प्रियव्रत सिंह भी उपस्थित थे.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *