मध्य प्रदेश में पिछले एक साल में 120 से अधिक किसानों ने की खुदकुशी: बाला बच्चन

Spread the love

भोपाल। मध्य प्रदेश के गृह मंत्री बाला बच्चन ने विधानसभा में बताया कि प्रदेश में पिछले एक वर्ष में 120 से अधिक किसानों ने खुदकुशी की है। इनमें से कुछ किसानों में नशे की लत तो कुछ ने मानसिक संतुलन खोने के कारण आत्महत्या की है। बच्चन ने भाजपा के विधायक आशीष शर्मा के एक सवाल के लिखित जवाब में बताया कि जनवरी 2019 से 20 नवंबर 2019 तक प्रदेश में 122 किसानों ने आत्महत्या की है। उन्होंने बताया कि खुदकुशी करने वाले 122 किसानों में से केवल एक किसान ने कर्ज के कारण आत्महत्या की है बाकी किसी अन्य किसान ने फसल खराब होने के कारण खुदकुशी नहीं की। उन्होंने बताया कि 24 किसानों ने नशे की लत से जुड़ी समस्याओं के चलते आत्महत्या की।

जबकि इनमें से 31 किसानों ने बीमारी के चलते, 41 ने मानसिक संतुलन खोने के कारण और 20 ने परिवार के झगड़े के कारण आत्महत्या की है। भाजपा के विधायक शर्मा ने ‘पीटीआई’ से कहा, ‘‘किसानों की आत्महत्याओं के इस आंकड़े से पता चलता है कि प्रदेश की कांग्रेस सरकार द्वारा बहु प्रचारित किसान ऋण माफी योजना विफल रही है। वास्तव में इनमें से अधिकांश किसानों ने बढ़ते कर्ज और कृषि संबंधी समस्याओं के कारण आत्महत्या की है लेकिन प्रदेश सरकार इनकी आत्महत्याओं के पीछे अलग कारण बता रही है।’’ वहीं दूसरी ओर प्रदेश कांग्रेस के प्रवक्ता पंकज चतुर्वेदी ने दावा किया, ‘‘ प्रदेश सरकार द्वारा किसानों के हित में शुरु की गई कल्याण योजनाओं के कारण किसानों की समस्याएं कम हो गई हैं। जबकि भाजपा के पिछले 15 साल के शासन में कर्ज और कृषि की अन्य समस्याओं के कारण प्रदेश में 15,000 से अधिक किसानों ने खुदकुशी की थी।’’

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *