छत्तीसगढ़ के मसलों पर CM भूपेश बघेल करेंगे केंद्रीय मंत्रियों से चर्चा, CWC बैठक से पहले दिया ये बड़ा बयान

Spread the love

रायपुर। कांग्रेस नया अध्यक्ष चुन लेगी या फिर उत्तराधिकारी की तलाश अभी और लंबी होगी, शनिवार के ये तस्वीर साफ हो जाने के कयास लगाए जा रहे है. बता दें कि दिल्ली में शनिवार को कांग्रेस वर्किंग कमेटी की बड़ी बैठक होने जा रही है. इस बैठक में नए कांग्रेस अध्यक्ष पर रायशुमारी की जाएगी. ऐसा माना जा रहा है कि शनिवार शाम तक नए कांग्रेस अध्यक्ष का ऐलान किया जा सकता है. इस अहम बैठक में छत्तीसगढ़ के मुख्यमंत्री भूपेश बघेल भी शामिल होंगे.

राज्य के मुद्दों पर चर्चा करेंगे सीएम:

मुख्यमंत्री भूपेश बघेल शनिवार सुबह दिल्ली के लिए रवाना हो गए हैं. दिल्ली में CWC की अहम बैठक में वे शामिल होंगे. इसके साथ ही सीएम बघेल राज्य के मसलों को लेकर कई केंद्रीय मंत्रियों से भी मुलाकात करेंगे. मालूम हो कि कांग्रेस शासित राज्यों के मुख्यमंत्री और प्रदेश अध्यक्षों को दिल्ली बुलाया गया है. राष्ट्रीय अध्यक्ष को लेकर इस बैठक में मंथन हो सकता है.

CWC बैठक से पहले बड़ा बयान:

दिल्ली रवाना होने से पहले मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने एक बड़ा बयान दिया है. सीएम बघेल ने कहा कि  शनिवार शाम तक राष्ट्रीय अध्यक्ष की घोषणा हो जाएगी. उन्होने कहा कि आज ही सीडब्ल्यूसी की बैठक में रायशुमारी के लिए कांग्रेस शासित मुख्यमंत्री और प्रदेश अध्यक्षों को शामिल होना है. बैठक में अंतिम रायशुमारी के बाद कोई फैसला होगा.

बीजेपी सदस्यता अभियान पर कही ये बात:

एनजीटी ने 500 उद्योगों को बंद करने के निर्देश दिए है. रोजी रोटी का संकट होने पर मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने कहा कि मैने रिपोर्ट नहीं देखी है. देखने के बाद ही कुछ कह पाऊंगा.  वहीं बीजेपी के सदस्यता अभियान पूरा नहीं कर पाने पर मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने कहा कि ये उनका आंतरिक मामला है. लेकिन ये सच की लोग उन्हें पसंद नहीं कर रहे, इसलिए लोग उनसे नहीं जुड़ रहे है.

नया रायपुर में बसेंगे विधायक-मंत्री:

दिल्ली रवाना होने से पहले मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने कहा कि नया रायपुर में जल्द विधायक और मंत्री बसेंगे. वहां मंत्री-विधायक बसने से आबादी भी बसेगी. वहीं पीसीसी चीफ मोहन मरकाम के कोंडागांव में दिए बयान पर मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने कहा कि अध्यक्ष के कुछ कहने के बाद मेरा उस पर बयान देना ठीक नहीं. जो अध्यक्ष का निर्णय है वो अंतिम है. बता दें कि पीसीसी चीफ मोहन मरकाम ने कहा था कि अब हर जिले में एक कार्यालय बनेगा जिसमे हर हफ्ते जिलाध्यक्ष और ब्लॉक अध्यक्ष बैठकर लोगों की समस्याएं सुनी जाएगी.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *