जबलपुर विश्वविद्यालय में हड़ताल से कामकाज ठप,अनशन पर बैठे कर्मचारी को पुलिस ने आधी रात को जबरन उठाकर अस्पताल पहुंचाया

Spread the love

जबलपुर। सातवें वेतनमान का एरियर्स, समयमान वेतनमान की मांग को लेकर आमरण अनशन कर रहे रानी दुर्गावती विश्वविद्यालय (रादुविवि) शैक्षणेत्तर कर्मचारी संघ के सदस्य राजेन्द्र प्रसाद कुशवाहा को पुलिस आधी रात को जबरन उठाकर विक्टोरिया अस्पताल ले गई। विश्वविद्यालय प्रशासन द्वारा लिखे गए पत्र के बाद पुलिस ने यह कार्यवाह की। वहीं विवि प्रशासन का यह कहना है कि कुशवाहा की तबीयत लगातार खराब होती जा रही थी, जिसके बाद पुलिस ने यह कदम उठाया। खबर लगने पर विवि के कर्मचारी अस्पताल पहुंचे,  वहां भी कुशवाहा ने खाना खाने से मना कर दिया और अनशन जारी रखा।

इस घटनाक्रम के बाद विश्वविद्यालय के बैकलॉग पदों से भर्ती हुए कर्मचारियों ने भी हड़ताल शुरू कर दी है। इससे विश्वविद्यालय में कामकाज पूरी तरह ठप पड़ गया है ।बैकलॉग पदों से भर्ती कर्मचारियों ने वरिष्ठता प्रभावित होने को लेकर अनशन किया। कर्मचारियों ने कुलसचिव से कहा कि उनका नियमितीकरण २०१३ में किया गया था। उनकी नियुक्ति आदेश में स्पष्ट था कि उन्हें सभी लाभों की पात्रता होगी। दैवेभो कर्मियों की वरिष्ठता २००८ से मान्य करते हुए समयमान वेतनमान प्रदान किए जाने का प्रयास किया जा रहा हैे जिसके कारण सीधी भर्ती से आए बैकलॉग कर्मचारियों की सीनियारिटी प्रभावित होगी। इस दौरान मंगलू सिंह मरकाम, राजेश मरावी, महेंद्र रैना, नीतू धुर्वे, सीमा वासिनक आदि उपस्थित थे।

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *