भ्रष्ट उपकुलसचिव दीपेश मिश्रा से बचाओ RDVV को : कर्मचारी संघ

Spread the love

जबलपुर। रानी दुर्गावती विश्वविद्यालय कर्मचारी संघ ने उपकुलसचिव दीपेश मिश्रा पर भ्रष्टाचार के आरोप लगाते हुए उन्हें हटाने की मांग की है। कर्मचारी संघ के पदाधिकारियों ने सोमवार को रानी दुर्गावती विश्वविद्यालय में प्रदर्शन करते हुए दीपेश मिश्रा के खिलाफ जमकर नारेबाजी की। संघ के सदस्यों ने कुलपति कपिल देव मिश्र से उपकुलसचिव को हटाने व विश्वविद्यालय को बचाने की मांग की है।

यह भी पढ़े: पैसे ले लिए और पास भी नहीं कराया, रादुविवि के रजिस्ट्रार पर महिला ने लगाये गंभीर आरोप

कर्मचारी संघ के पदाधिकारियों ने आरोप लगाते हुए बताया कि परीक्षा एवं स्थापना विभाग में जमकर धांधली हो रही है। विश्वविद्यालय द्वारा जारी रिजल्ट में भी बड़े पैमाने पर गड़बड़ी देखी जा रही है। हर वर्ष विश्वविद्यालय प्रशासन कदाचार मुक्त परीक्षा लेने का दावा मात्र करता है और हर बार परीक्षा में कदाचार हावी रहता है। कर्मचारी संघ ने विश्वविद्यालय से सवाल किया है कि क्या कारण है कि इस वर्ष परीक्षा केंद्रों पर निगरानी के लिए फ्लाइंग स्क्वॉड का गठन नहीं किया गया।कर्मचारी संघ ने चेतावनी दी है कि उपकुलसचिव दीपेश मिश्रा पर लगे आरोपों की जांच कर शीघ्र नहीं हटाया गया तो उग्र आंदोलन किया जायेगा।

दैनिक भास्कर के रिपोर्टर भी करते है परीक्षा में ड्यूटी

रानी दुर्गावती विश्वविद्यालय की परिक्षाओं में हो रही धांधली को मीडिया से बचाने के एवज में उप कुलसचिव दीपेश मिश्रा दैनिक भास्कर जबलपुर के रिपोर्टर शैलेष प्रसाद को इसके एवज में परीक्षा ड्यूटी में पर्यवेक्षक का कार्य देकर आर्थिक लाभ पहुंचाते रहे है। हाल ही में पीएचडी परीक्षा में हुई धांधली की खबरें लगातार देश भर की मीडिया में आ रही थी लेकिन दैनिक भास्कर में खबर इसलिए न छप सकी क्योकि दैनिक भास्कर के रिपोर्टर भी पीएचडी परीक्षा में डयूटी पर तैनात थें।

ज्ञात हो की यह वही शैलेष प्रसाद है जिन पर विश्वविद्यालय के एक अतिथि विद्वान ने दुर्भावनापूर्ण रिपोर्ट प्रकाशित होने के कारण आईपीसी की धारा 499, 500, 501 और 502 के तहत सिविल लाइन थाने में आपराधिक प्रकरण दर्ज कराया था, जिसकी सुनवाई जिला एवं सत्र न्यायालय में आज भी चल रही है।

ये भी पढ़ें :

डिप्टी रजिस्ट्रार दीपेश मिश्रा परीक्षाओं में करते हैं धांधली: ईसी मेंबर का आरोप

रादुविवि के नकल विहीन परीक्षा के दावे खोखले, जानिए क्या है कारण

 

 

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *