आईआईटी कानपुर ने विकसित की अनोखी तरह की सैनिटाइजिंग मशीन

Spread the love

ब्यूरो चीफ़ आरिफ मोहम्मद कानपुर

कोविड-19 दूषित वस्तुओं और कमरों से और भी बढ़ रहा है। लोग सांस लेने या किसी भी चीज को छूने से डरते हैं, विशेष रूप से उन क्षेत्रों में जहां लोगों को आना पड़ता है। लिक्विड सैनिटाइजिंग को इस्तेमाल किया जा रहा है, जिसमें रासायनिक जोखिम है। इमेजिनरी लेबोरेटरी, आई.आई.टी कानपुर ने शुद्ध (स्मार्टफ़ोन संचालित हैंडी अल्ट्रावॉयलेट डिस्नेफ़ेक्शन हेल्पर) नामक एक UV सैनिटाइज़िंग उत्पाद विकसित किया है। एक एंड्रॉइड एप्लिकेशन इंस्टॉल करके आप अपने उपलब्ध स्मार्टफोन का उपयोग करके उत्पाद के ऑन / ऑफ, गति और स्थान को दूरस्थ रूप से नियंत्रित कर सकते है। शुद्ध में 15 वाट की छह यूवी लाइट्स हैं जिन्हें व्यक्तिगत रूप से दूर से ही नियंत्रित की जा सकती है। प्रारंभिक परीक्षण ने साबित कर दिया है कि अपने पूर्ण ऑपरेशन में डिवाइस लगभग 15 मिनट में 10×10 वर्ग फुट के कमरे को कीटाणुरहित कर सकता है। उत्पाद प्रर्वतक, प्रो. जे. रामकुमार, डॉ. अमनदीप सिंह, श्री शिवम सचान का मानना है कि शुद्ध अत्यधिक प्रवण स्थानों जैसे कि अस्पताल, होटल, मॉल, कार्यालय, स्कूल, आदि में कोरोनावायरस के प्रसार को मारने में सहायता कर सकता है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *