Covid19 की लड़ाई में जिलाधिकारी के खास निर्देश

Spread the love

कोरोना मरीजों की बढ़ती संख्या पर नियन्त्रण व बचाव हेतु जिलाधिकारी ने दिए निर्देश

ब्यूरो चीफ़ आरिफ़ मोहम्मद कानपुर

सर्विंलास और कांटेक्ट ट्रेसिंग पर विशेष ध्यान देकर कार्य किया जाए

एन्टीजन टेस्ट बढाने के निर्देश दिये। 24 घण्टे में किसी भी प्रकार की समस्या होने पर कंट्रोल रूम नम्बर 18001805159 पर सम्पर्क करें

    जिलाधिकारी डा ब्रम्हदेव राम तिवारी ने निर्देशित किया है कि जनपद में कोविड-19 मरीजों की बढ़ती संख्या पर अंकुश लगाने के लिए जिला प्रशासन व स्वास्थ्य विभाग की ओर से लगातार प्रयास किये जा रहे। उन्होंने बताया है कि सर्विलांस कार्य व कांटेक्ट ट्रेसिंग पर विशेष फोकस करते हुए इसके लिए शहरी व ग्रामीण क्षेत्रों में टीमें लगाई गई है। पाॅजिटिव मिले मरीजों के सम्पर्क में आए लोगों की जांच भी युद्धस्तर पर की जा रही है। उन्होंने बताया है कि जनपद में अब आर0टी0पी0सी0आर0ए0, ट्रननेट तथा एन्टीजन तीनो प्रकार की जाॅच के माध्यम से रोजाना लगभग 2500 से 3000 लोगों की कोरोना की जांच कराये जाने की व्यवस्था की जा रही है। इसके अलावा होम आइसोलेशन व क्वारांटीन में रह रहे मरीजों की प्रतिदिन काउंसिलिंग कर उनके लक्षण आदि के बारे में जानकारी लेने का कार्य इन्ट्रीग्रेटेड कमान्ड कन्ट्रोल सेंटर (आई0सी0सी0सी0) से किया जा रहा है। इसी के साथ ही कोविड कमांड सेंटर से सभी कोविड से संबंधित गतिविधियों पर नजर रखते हुए एस0एम0एस0 के माध्यम से सूचना दिये जाने, पोर्टल के माध्यम से सूचना फीड करने व देने की कार्यवाही की जा रही है। इसके साथ ही सूचना प्राप्त करके अस्पतालों में फैसिलिटि एलोकेशन व होम आइसोलेशन के संबंध में मरीजों को जानकारी दी जाती है। मा0 जनप्रतिनिधियो द्वारा जरूरतमदों को सेनेटाइजर व मास्क भी वितरित किये जा रहे तथा लोगों को कोरोना वायरस के प्रति जागरूक भी किया जा रहा है, लाॅकडाउन के दौरान जरूरत एवं गरीब लोगों को खाद्य सामाग्री एवं अन्य सहायता भी प्रदान की गयी है। इसी के साथ ही पुलिस प्रशासन एवं नगर निगम द्वारा स्वच्छता बनाये रखने तथा लोगों को दो गज की दूरी का पालन करने एवं बार-बार सेनेटाइज व साबुन से अच्छी तरह हाथ धोने के लिए जागरूक किया जा रहा है। 
जिलाधिकारी डा0 तिवारी ने बताया है कि एल-2 व एल-3 कोविड अस्पतालों में बेडों की संख्या बढाये जाने के साथ वेन्टीलेटर/वाई पाइप तथा एच0एफ0एन0सी0 की संख्या बढाई गयी है। कोरोना मरीजों की चिकित्सा सुविधा के लिए 27 सरकारी क्षेत्र की एम्बुलेंस तथा 11 निजी एम्बुलेंस, कुल- 38 एम्बुलेंस की व्यवस्था की गई है। जिसमें  एडवांस लाइफ सपोर्ट सिस्टम (एएलएस) से लैस 03 एम्बुलेंस है, जो गंभीर मरीजों को ले जाने के लिए तैयार है। उन्होंने बताया है कि होम आइसोलेशन की व्यवस्था के लिए 25 रैपिड रिस्पांस टीम लगाई गयी है। होम आइसोलेशन की शर्तो के अनुसार कोरोना पाॅजिटिव मरीज के पास घर पर एक अलग कमरा एवं अलग शौचालए तथा एक मेडिकल किट होना जरूरी है, जिसमें थर्मामीटर तथा पल्स आक्सीमीटर, हाइपोक्लोराइड की बोतल, मास्क, गल्बस, बिटामिन बी0 एवं सी0 की गोलिया होनी आवश्यक है। उन्होंने बताया है कि वैश्विक महामारी कोरोना को दृष्टिगत रखते हुए घर बैठे चिकित्सीय परामर्श सेवा प्रदान करने के लिए टेली मेडिसिन सेवा भी संचालित है। इसके साथ ही कोरोना की एन्टीजन जाॅच कराये जाने हेतु शहर के सभी पीएचसी0 के साथ ही 32 स्टैटिक बूथ कोरोना में जाॅच कराये जाने की व्यवस्था को और बढाये जाने के निर्देश दिये है। इसके साथ ही विशेष सर्विलांस अभियान के अन्तर्गत घरों पर सर्वे कराये जाने हेतु टीमों का गठन कर सर्वे किया जा रहा है तथा सर्वे में पाये जाने वाले कोरोना के लक्षण युक्त लोगों का सैम्पल एकत्र कर जाॅच की जा रही है। जनपद में कोविड-19 के संक्रमण से बचाव हेतु समस्त कार्यालयों, सामुदायिक एवं प्राथमिक स्वास्थ्य केन्द्रों, थानों, नगर-निकाय कार्यालयों आदि स्थानों पर कोविड हेल्पडेस्क स्थापित की गई है, जहाॅ पर आने वाले प्रत्येक व्यक्तियों की थर्मल स्क्रीनिंग की जा रही है। इसके साथ ही पल्स आक्सीमीटर से आक्सीजन लेवल की जाॅच भी की जा रही है।
मुख्य चिकित्साधिकारी ने बताया है कि दिनांक 22 अगस्त, 2020 को सायं 05ः00 बजे तक जनपद में कुल केसों की संख्या 12244 है, जिनमें से 4061 हजार कोरोना मरीज उपचार के बाद डिस्चार्ज किये गये है तथा मृत व्यक्तियों की संख्या 359 है। होम आइसोलेशन के अन्तर्गत 4636 लोग होम आइसोलेशन पूर्ण हो चुके है तथा जनपद में कुल एक्टिव केस 3188 है। उन्होंने बताया है कि कोविड के साथ मच्छर जनित रोगों से बचाव के लिए मलेरिया विभाग द्वारा डेंगू व बैकटर जनित रोगों से बचाव हेतु मच्छरों से बचाव के लिए शहरी एवं ग्रामीण क्षेत्रों में फागिंग की जा रही है तथा मच्छरों के लार्वा मिलने पर उनको नष्ट करने की कार्यवाही की जा रही है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *